जवाहरलाल नेहरु उन्नत वैज्ञानिक अनुसंधान केन्द्र
 
 

 

गृह प्रत्याशित छात्र स्नातक पूर्व (11वी. या 12वीं)
स्नातक पूर्व (11वी. या 12वीं)
 

जनेउवैअकें युवा छात्रों में विज्ञान के संपोषण का स्थान रहा है । Ph.D करनेवाले छात्रों के कार्यक्रमों के लिये आतिथेय होने के अलावा, विशेषकर महत्वाकांक्षी छात्रों के लिये अनेकों अधिक्रमिक कार्यकलाप भी संचालित किये जाते बैं । हरित तथा प्रशांत परिसर के साथ अवश्य ही सत्यान्वेषियों के लिये यह यात्रा स्थल रहा है । विश्वभर के प्रतिभासंपन्न विज्ञानी इस परिसर को एक अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र के रूप में स्वीकारते हैं । विगत वर्षों में अनेकों प्रतिष्ठित व्यक्तियों का आगमन जनेकें पर हुआ था । इनमें सम्मिलित हैं - प्रोफेसर डेविड ग्रॉस (भौतिकी में नोबल पुरस्कार से सम्मानित), प्रोफेसर वैटसन (रासायनिकी में नोबल पुरस्कार से सम्मानित), प्रोफेसर अहमद जेवैल (रासायनिकी में नोबल पुरस्कार से सम्मानित) तथा डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम (भूतपूर्व भाकरत के राष्ट्रपति)

स्नातक पूर्व (11वी. या 12वीं) कक्षा के रूप में, आपके लिये जनेकें के समुदाय के साथ अंतर्क्रिया करने के निम्न अवसर प्राप्त करते हैं ।

परिसर तथा प्रयोगालय का दौरा :
प्रशासनिक अधिकारी, जनेउवैअकें के admin@jncasr.ac.in से अनुरोध करने पर जनेकें के अंदर (लगभग आधे दिन का) दौरा आयोजित किया जा सकता है ।
विज्ञान दिवस :
प्रति वर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस फरवरी 28 के दिन मनाया जाता है जब सर सी वी रामन द्वारा रामन प्रभाव का आविष्कार किया गया था । उस कार्यक्रम में केन्द्र के संकायों द्वारा व्याख्यान, प्रयोगात्मक प्रदर्शन kतथा अंतर्क्रियात्मक सत्र निहित होते हैं । प्रति वर्ष इस कार्यक्रम में विद्यालयों के लगभग 100 बच्चे भाग लेते हैं । अधिक जानकारी के लिये jncvisit@jncasr.ac.in से संपर्क करें ।
विशेष व्याख्यान :

जनेकें नियमित रूप से, जीवन के विविध क्षेत्रों के प्रतिभाशाली व्यक्तियों का आतिथेय बनता है (आमंत्रित करना हे) । अगर आप, इन व्याख्यानों में भाग लेने के इच्छुक हों तथा अपना नाम डाक सूची में सम्मिलित करना चाहते हैं तो अपने अनुरोध को jncvisit@jncasr.ac.in पर ई-मेल करें ।

परियोजना अभिमुखी रासायनिकी शिक्षा : read
परियोजना अभिमुखी जैविकी शिक्षा : read
 


 
2012, जवाहरलाल नेहरु उन्नत वैज्ञानिक अनुसंधान केन्द्र. Supported by W4RI